The True Job Alerts And Educational News

Sunday, January 10, 2021

पंचायत समिति स्तर पर होगी भर्ती: ग्रामीण क्षेत्र के बेरोजगार युवाओं को मिलेगा रोजगार, 14 से 22 जनवरी तक लगेंगे कैम्प


अजमेर जिले में सुरक्षा जवान एवं सुपरवाइजर पदों पर होगी भर्ती

अजमेर जिले में ग्रामीण क्षेत्र के बेरोजगार युवाओं को सुरक्षा जवान एवं सुरक्षा सुपरवाइजर के रूप में भर्ती करने के लिए पंचायत समिति स्तर पर भर्ती कैंपों का आयोजन 14 से 22 जनवरी तक होगा। सिक्योरिटी एंड इंटेलीजेंस सर्विसेज की केन्द्रीय प्रशिक्षण अकादमी उदयपुर के भर्ती अधिकारी बृजमोहन बेसरा ने इसकी जानकारी दी।



उन्होंने बताया कि भारतीय सुरक्षा दस्ता परिषद नई दिल्ली एवं एसआईएस के संयुक्त तत्वाधान में भारत सरकार के पसारा एक्ट 2005 के तहत ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों के शिक्षित बेरोजगार युवाओं को सुरक्षा गार्ड एवं सुरक्षा सुपरवाइजर के पद पर भर्ती करने के लिए कैंप जिला अजमेर में पंचायत समिति स्तर पर किया जा रहा है। इस संबंध में भर्ती अधिकारी से 9680581471 पर भी सम्पर्क किया जा सकता है।




इस तिथि को यहां लगेंगे कैंप:
ये कैंप 14 जनवरी को पंचायत समिति श्रीनगर, 15 जनवरी को पंचायत समिति अंराई, 16 जनवरी को पंचायत समिति भिनाय, 17 जनवरी को पंचायत समिति मसूदा, 18 जनवरी को पंचायत समिति जवाजा, 19 जनवरी को पंचायत समिति पीसांगन, 20 जनवरी को पंचायत समिति सरवाड़, 21 जनवरी को पंचायत समिति केकडी तथा 22 जनवरी को पंचायत समिति अजमेर ग्रामीण में रहेंगे।

भर्ती स्थल पर होंगे रजिस्ट्रेशन:
संबंधित पंचायत समिति परिसर में प्रातः 10 बजे से सायं 4 बजे तक भर्ती प्रक्रिया सम्पन्न होगी। भर्ती स्थल पर अभ्यर्थियों का रजिस्ट्रेशन होगा। इसके लिए अभ्यर्थी 10 वीं कक्षा उत्तीर्ण, ऊंचाई 168 सेमी, वजन 56 से 90 किलो के मध्य, सीना 80 से 85 सेमी, आयु 21 से 35 वर्ष की होनी चाहिए। साथ ही शारीरिक रूप से स्वस्थ एवं फिजिकली फिट होना चाहिए।

मिलेगा स्थाई रोजगार:
चयनित अभ्यर्थियों को सफलतापूर्वक प्रशिक्षण प्राप्त करने के उपरान्त 65 वर्ष की आयु तक स्थाई रोजगार प्रदान किया जाएगा। सुरक्षा जवान का मासिक वेतन 10 हजार से 14 हजार, सुरक्षा सुपरवाइजर का वेतन 14 हजार से 18 हजार तक होगा। नियुक्त कार्मिकों को पीएफ, ईएसआईसी, ग्रेज्युटी, बोनस, मेडिकल सुविधा, इंश्योरेंस, सालाना वेतन वृद्धि, दुर्घटना बीमा, आवास व मेस आदि की सुविधाएं दी जाएगी। प्रशिक्षण के बाद भारत सरकार के ऐतिहासिक स्थल, औद्योगिक क्षेत्र एवं मल्टीनेशनल क्षेत्रों में स्थाई नियुक्ति दी जाएगी।

कोरोना गाइडलाइन का पालन जरूरी होगा:
युवाओं को कोरोना गाइडलाइन का पालन करना जरूरी होगा। कोरोनागाइड लाइन के अनुसार सोशल डिस्टेंस को ध्यान में रखकर तथा मास्क लगाकर अपने मूल दस्तावेजों के साथ पंचायत समिति के लिए निर्धारित तिथि को उपस्थित होकर भाग ले सकते हैं।